मां बनने में आ रही है दिक्कत तो खाएं ये हेल्दी फूड

हेल्दी फूड

मां बनना किसी भी महिला के लिए सबसे ज्यादा खुशी लेकर आता है, लेकिन आज के मॉडर्न लाइफ में कई कपल्स ऐसे हैं जो इस खुशी से अछूते हैं।

 लेकिन ये चिंता की बात नहीं, आप अपने लाइफस्टाइल में मामूली बदलाव करके माता-पिता बनने का सुख पा सकते हैं। क्या आपको पता है अंडा भी इसमें बहुत बड़ी भूमिका निभाता है।

ए क शोध के मुताबिक, तकरीबन 15 फीसदी कपल्स को प्रजनन संबंधी समस्याएं होती हैं। लेकिन अच्छी ख़बर ये है कि फर्टिलिटी यानी प्रजनन क्षमता बढ़ाने के कुछ नैचुरल तरीके भी मौजूद हैं।

 आपको जानकर हैरानी होगी, लेकिन डाइट और जीवनशैली में बदलाव करके आसानी से फर्टिलिटी को बढ़ाया जा सकता है। आज हम आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताएंगे जिनके सेवन से प्रजनन क्षमता बढ़ाने और तेजी से गर्भवती होने में मदद मिल सकती है।

सनफ्लावर सीड्स

भुने हुए अनसाल्टेड सनफ्लावर सोड्स यानी सूरजमुखी के बीज विटामिन ई से भरपूर होते हैं। ये एक आवश्यक पोषक तत्व है, जो प्रजनन की समस्या से गुजर रहे जोड़ों के लिए जरूरी है। सनफ्लावर

सीड्स फोलेट और सेलेनियम से भरपूर होते हैं, जो फर्टिलिटी के लिए महत्वपूर्ण हैं। साथ ही इन बीजों में ओमेगा-6 फैटी एसिड और थोड़ी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड भी होता है।

सिट्स फ्रूट्स सिट्स फट्स यानी संतरे और अंगूर जैसे खट्टे फल विटामिन-सी के बेहतरीन स्रोत हैं। अंगूर और संतरे मे पॉलीमाइन पुढेसिन होता है, जो कि प्रजनन क्षमता में सुधार करने की क्षमता रखता है।

अंडे की जीं

अंडे की जर्दी में आयरन, कैल्शियम, जिंक, विटामिन बी6, विटामिन ए, फोलेट और विटामिन बी12 मौजूद होता है। इसके अलावा, अंडे की जर्दी में प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले ओमेगा-3 फैटी एसिड ईपीए, डीएचए और वसा में घुलनशील विटामिन ए, डी, ई और विटामिन के 2. होते हैं। कई शोध भी इस बात को साबित कर चुके हैं

 कि अंडे और इसकी नदीं में मौजूद प्रोटीन पुरुषों और महिलाओं दोनों में प्रजनन क्षमता के लिए अच्छा है। अंडे में कोलीन भी होता है, जो कुछ जन्म दोषों के जोखिम को कम कर सकता है।

बीन्स और दाल

बीन्स और दाल फाइबर और फोलेट से भरपूर होती हैं, जो हार्मोनल बैलेंस बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण हैं। दाल में पॉलीमाइनस्पर्मिडाइन भी अधिक मात्रा में पाए जाते हैं,

 जो कि फर्टिलिटी बढ़ाने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। इतना ही नहीं, दाल और बीन्स प्रोटीन से भरपूर होते हैं, जो हेल्दी ओव्यूलेशन को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं। कई शोधों से पता चलता है। वेजिटेरियन प्रोटीन के सेवन से 50 फीसदी तक एनोव्यलेशन के कारण होने वाली इंफर्टिलिटी की समस्या के जोखिम को कम किया जा सकता है।

अनार

अनार एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होते हैं, जो इंफर्टिलिटी में सुधार कर सकता है। 2014 के एक शोध के मुताबिक अनार, इसका अर्क और पाउडर सभी रूपों में ये फायदेमंद हो सकता है।

एवोकाडो

एवोकाडो विटामिन के, पोटेशियम और फॉलेट से भरपूर होते हैं, जो आपके शरीर को विटामिन को एक्जॉब करने, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के अलावा कई मामलों में फायदेमंद है। एवोकाडो मोनो अनसैचुरेटेड हैल्दी फैट से भरपूर होता है, जो कि उपयुक्त मात्रा में फाइबर और फोलिक एसिड प्रदान करते हैं। ये सभी चीजें गर्भावस्था के शुरुआती चरणों के दौरान महत्वपूर्ण होती हैं।

अनानास

ऐसा माना जाता है कि अनानास खाने से ओव्यूलेशन, गर्भधारण के प्रयास या आईवीएफ के दौरान एत्रियो ट्रांसफर के बाद पांच दिनों तक अनानास खाने से इंप्युटेशन में मदद मिलती है। हालाकि इसके कोई पुख्ता प्रमाण मौजूद नहीं है।

अनानास में भरपूर मात्रा में विटामिन सी होता है. रोजाना एक कप अनानास खाने से रोजाना निश्चित विटामिन सी का 46 फीसदी आप इंटेक कर सकते हैं। विटामिन सी की कमी के कारण पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि सिंड्रोम (पीसीओएस) हो सकता है,

 जो कि इंफर्टिलिटी का कारण बन सकता है। इसके अलावा अनानास में नैचुरल एंजाइम ब्रोमेलन भी होता है, जो कि एंटी- इंफ्लेमेट्री गुणों से भरपूर होता है और इम्युन मिल सकती है। सिस्टम को सूजन से बचाता है सूजन प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती है और ओव्यूलेशन को दबाने का काम करती है।

अन्य उपाय

• एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर सप्लीमेंट्स लेने से प्रजनन दर में सुधार हो सकता है।

• नाश्ते में अधिक कैलोरी और शाम के समय कम खाने से प्रजनन क्षमता में सुधार हो सकता है।

• फर्टिलिटी लेवल को बढ़ाने के लिए ट्रांसफैट से भरपूर खाद्य पदार्थों से बचें। • रिफाइंड कार्ल्स के अधिक सेवन से इंसुलिन का स्तर बढ़ सकता है, जिससे इंफर्टिलिटी का खतरा बढ़ सकता है और गर्भवती होने में कठिनाई हो सकती है।

• वेजिटेरियन युक्त खाद्य पदार्थों से मिलने वाले अधिक प्रोटीन खाने से महिलाओं में

उच्च वसा वाले डेयरी पदार्थों के सेवन से प्रजनन क्षमता में सुधार और गर्भवती होने की संभावना बढ़ सकती है।

• यदि आपको अपने आहार से आवश्यक सभी पोषक तत्व नहीं मिल रहे हैं. तो मल्टी विटामिन लेने से प्रजनन क्षमता बढ़ाने में मदद

● सक्रिय जीवन शैली और व्यायाम प्रजनन क्षमता में सुधार कर सकता है।

• अत्यधिक तनाव और चिंता गर्भधारण की संभावना को कम कर सकती है। तनाव के स्तर को कम करने से आपके गर्भवती होने की संभावना बढ़ सकती है।

यदि आपको अपने आहार से आवश्यक सभी पोषक • तत्व नहीं मिल रहे हैं, तो मल्टी- विटामिन लेने से प्रजनन • क्षमता बढ़ाने में मदद मिल सकती है। सक्रिय जीवन शैली और व्यायाम प्रजनन क्षमता में सुधार कर सकता है।

पके हुए टमाटर

टमाटर में बहुत अधिक मात्रा में लाइकोपीन नामक पोषक तत्व होता है, ये एक ऐसा शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है, जो फर्टिलिटी को बढ़ाने में मदद कर सकता है। कई शोध भी इस बात को साबित कर चुके हैं कि लाइकोपीन प्रजनन क्षमता के सुधार करने के लिए उपयोगी है।

Leave a Comment