फेस पैक से गर्मियों में निखारें अपना चेहरा

एक हेल्थी और दमकती त्वचा का राज उसकी सही केयर में छुपा है। अपनी स्किन के प्रकार और मौसम की जरूरतों के अनुसार उसकी देखभाल करना ग्लोइंग स्किन का सार है।

गर्ममियों में पसीना आने के कारण स्किन ज्यादा ही चिपचिपी लगाने लगती है, जिसके कारण पिंपल्स की समस्या होने लगती है। गर्मी में स्किन का ख़ास ख्याल रखने के टिप्स दे रही हैं शहनाज हुसैन

• अपनी त्वचा की देखभाल के साथ-साथ अपनी डाइट का भी ध्यान रखें। डाइट में ताजे नहीं होती। फल, कच्चे सलाद, अंकुरित अनाज, दही, ताजा फ्रूट्स जूस, पत्तेदार हरी सब्जियां, दलिया, जई, ग्रीन टी जैसे कई प्रकार के नैचुरल इंट्रीग्रेट शामिल करें याद रहे ताजे फलों के रस को पानी से भी ज्यादा पतला करना चाहिए।

 त्वचा को चमकदार बनाने के लिए अधिक मात्रा में पानी पीएं। एक गिलास पानी में एक नींबू का रस मिलाएं और सुबह सबसे पहले इसका सेवन करें। यह स्किन को ग्लोइंग बनाता है।

● चेहरे की सफाई पर विशेष तौर पर ध्यान दें। दिन में 2-3 बार ताजे पानी से अपना चेहरा धोएं। हैवी क्रीम और मॉइश्चराइजर चेहरे पर लगाने से बचें।

• स्किन फ्रेशनर और एस्ट्रिजेंट टोनर गर्मियों के दौरान त्वचा को तरोताजा रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। टोनर स्किन के पोर्स को खोलते हैं और ब्लड सर्कुलेशन को एक्टिव करते हैं। त्वचा को ठंडक का अहसास दिलाने के लिए गुलाब जल को एक कटोरी में रखकर फ्रिज में रखें और दिन में कई बार रुई की मदद से अपना चेहरा साफ करते रहें। 

● एक्सफोलिएशन आपके स्किन केयर का जरूरी हिस्सा है। गर्मियों में तो ये और बेहद जरूरी हो जाता है। इस मौसम में धूप से स्किन भी झुलस जाती है। जिनकी स्किन ऑयली है उनको एक्सफोलिएशन जरूरी है, पोर्स की गहराई से साफ करता है और उन्हें क्लॉग ऑयल से फ्री करता है, जिससे ब्लैकहेड्स, पिंपल्स और एक्ने जैसी समस्या

• त्वचा को तरोताजा और टोन करने के लिए ग्रीन टी, एप्पल साइडर विनेगर, आलू, टमाटर, नींबू और यहां तक कि व्हाइट वाइन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

से परेशान रहते हैं। डेड स्किन को हटाने और यह और बढ़ सकता है।

 स्किन को शाइनिंग बनाने के लिए सप्ताह में एक या दो बार स्क्रब करना चाहिए इससे त्वचा को एक्सफोलिएट किया जा सकता है। ड्राई स्किन के लिए सप्ताह में एक बार और ऑयली स्किन के लिए सप्ताह में दो या तीन बार स्क्रब किया जाना चाहिए।

• स्क्रब के इस्तेमाल से ब्लैकहेड्स से बचाव इसे चमकदार बनाता है। किया जा सकता है। गर्मियों में स्किन को देखभाल के लिए तिल पुदीने का फेस पैक बेस्ट ऑप्शन है। इसको बनाने के लिए तिल, सूखे पुदीना के पत्ते और शहद लें। सबसे किया जा सकता है। पहले तिल को दरदरा पीस लें और सूखे 

● फलों और सब्जियों के पैक गर्मियों के दौरान पुदीने के पत्तों का पाउडर बना लें। इनमें थोड़ा-सा शहद मिलाकर त्वचा पर लगाएं। इस पैक को लगाकर 5 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर धीरे से रगड़ें और पानी से धो लें। 

• अगर आपकी स्किन बहुत ज्यादा सेंसटिव है तो ध्यान रखें कि अपने हाथों से चेहरे को छने से बचें। हाथ ऑयली और पसीने से तर होते हैं, जो त्वचा में कीटाणुओं को ले जाते हैं, जिससे पिंपल्स और मुंहासे हो जाते हैं। अगर 

● कई बार आप डेड स्किन और डल स्किन पहले से मुंहासे हैं तो चेहरे को बार-बार हुने से

● ब्लैकहेड्स वाली ऑयली स्किन के लिए ओट्स अद्भुत तरीके से काम करता है। इसे अंडे के सफेद भाग के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाएं। 20 मिनट बाद धीरे से रगड़कर धो लें। यह पैक न केवल ब्लैकहेड्स को कम करता है। बल्कि त्वचा को एक्सफोलिएट भी करता है 

● फेस पैक त्वचा की देखभाल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। गर्मियों में फेस पैक बनाने के लिए नेचुरली रूप से ठंडी चीजों का इस्तेमाल

बहुत पॉपुलर होते हैं, क्योंकि वे त्वचा को ठंडक और फ्रेशनेस देने में मदद करते हैं, साथ हो चेहरे पर चमक भी लाते हैं। फलों के पैक को रोजाना लगाया जा सकता है और बेस्ट बात ये है कि यह हर टाइप की स्किन पर सूट करता है।

 फ्रूट्स फेस पैक के लिए पके हुए पपीते के गूदे और मसले हुए केले के साथ कद्दूकस किया हुआ सेब मिलाएं। इसी मिश्रण में दही या नींबू का रस मिला सकते हैं।

 इसे चेहरे पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें। फिर सादे पानी से धो लें। यह न केवल निखार लाने में मददगार है, बल्कि टैन को भी हटाता है और त्वचा को कोमल बनाता है।

● आप घर पर बने फेस मास्क सप्ताह में दो या तीन बार इस्तेमाल कर सकते हैं। मास्क के लिए दो चम्मच गेहूं के चोकर में एक चम्मच पिसा हुआ बादाम, दही, शहद और गुलाब जल मिलाएं।

घर पर बनाइए नैचुरल सनस्क्रीन

नैचुरल सनस्क्रीन

गर्मियों में आपकी त्वचा को खास देखभाल की जरूरत होती है और अगर देखभाल कुछ ऐसे प्राकृतिक चीजों से की जाए जो किसी सनस्क्रीन से कम नहीं तो यकीन जानिए आप की त्वचा खिल उठेगी।

•झुलसा देने वाली गर्मियां और भभकते लू के थपेड़े में प्रकृति की तरह हमारी त्वचा भी कुम्हला जाती है। बाजार में यद्यपि धूप से सुरक्षा के लिए तरह तरह के सनस्क्रीन उपलब्ध हैं,

 पर इनमें कैमिकल्स होने के कारण त्वचा पर साइड इफैक्ट्स होने का डर रहता है और संवेदनशील त्वचा है तो और भी समस्या हो सकती है। क्यों न प्रकृति प्रदत्त नैचुरल सनस्क्रीन का उपयोग करें और रखें इन गर्मियों में त्वचा को टैन फ्री खूबसूरत और जवान

नारियल तेल

नारियल में सन प्रोटेक्शन फैक्टर बहुतायत में मौजूद होता है। सुबह-शाम नारियल तेल लगाइए और गोरी और सुंदर त्वचा पये

शीया बटर

शीया वटर न केवल सनस्क्रीन की तरह काम करता है बल्कि त्वचा को मुलायम और चमकदार भी बनाता है। अत्यधिक संवेदनशील त्वचा के लिए भी यह बेहद उपयुक्त है।

जोजोबा आयल

जोजोबा का तेल प्राकृतिक सनस्क्रीन है। इसे उचित मात्रा में लगाने से त्वचा काली नहीं पड़ती।

तिल का तेल

तिल के तेल में कुदरती सन प्रोटेक्शन फैक्टर मौजूद है। यह त्वचा को काले होने से रोकते हैं।

सनफ्लावर आईल

सनफ्लावर आईल त्वचा में आसानी से जन्म हो जाता है और सूर्य की पैरा-बैंगनी किरणों से रक्षा करता है।

विटामिन ई तेल

विटामिन ई के कैपसूल में से इसे निकाल कर चेहरे व खुले भागों पर लगाया जा सकता है। यह त्वचा को चमकदार व पोषण युक्त व मुलायम बनाता है।

एलोवीरा जैल

ग्वारपाठे के गूदे को सीधे त्वचा पर लगाएं या पानी में, क्रीम में मिलाकर लगाएं। यह पैराबैंगनी किरणों से आपकी रक्षा करता है व त्वचा को हाईड्रेट करता है।

जिंक आक्साइड

त्वचा के दोस्त, इस मिश्रण के बहुत छोटे कर्णो से बचना चाहिए क्योंकि ये स्वास्थ्य को हानि पहुंचा सकते है। ब्यूटी एक्सपर्ट से पूछकर त्वचा, भौगोलिक स्थिति व व्यक्तिगत जरूरत के हिसाब से इसे लगाना चाहिए।

नारियल पानी

नारियल तेल की तरह इसका पानी भी सनस्क्रीन की तरह काम करता है। तैलीय त्वचा वाले इसे लगाकर दमकती त्वचा पा सकते हैं।

 उपरोक्त सभी को आप बराबर मात्रा में मिक्स करके या अलग-अलग लेकर फ्रिज में तीन-चार हफ्तों के लिए रख सकते हैं। धूप में बाहर निकलने से दस मिनट पहले शरीर के खुले हिस्सों पर लगाएं और यदि पसीना आ जाए तो वापस लगा ले।

यदि किसी कारणवश आपको सन बर्न हो गया हो तो अपनाएं यह प्राकृतिक उपाय

खूब पानी पिएं सन बर्न यानी शरीर से पानी कम होना इसीलिए खूब पानी पिएं त्वचा जल्दी ठीक होगी।

टमाटर रगड़ें- सनटैन वाले अंगों पर टमाटर हल्के-हल्के रगड़ें। टमाटर दाग धब्बे हटाकर त्वचा का रंग हल्का बनाता है।

आलू मलें आलू के टुकड़े प्रभावित स्थानों पर मले या आलू का जूस लगाएं राहत शीघ्र मिलेगी।

कच्चे दूध से मुंह धोएं सनबर्न होने पर साबुन या हर्श कैमिकल्स का उपयोग न करें। कच्चे दूध से मुंह धोएं।

ध्यान रखें- सनटैन या सनबर्न त्वचा को काला

ही नहीं बनाते बल्कि उसकी इलास्टिसिटी खत्म कर झुर्रियों को शीघ्र आमंत्रण दे देते हैं, इसीलिए शरीर को स्कार्फ, छतरी, मोटे कपड़े से ढकें। आप हैट भी पहन सकती हैं।

आखिर सुंदर त्वचा ही सुंदर रंगरूप की निशानी है।

Leave a Comment